0 Indiaah Indiaah

Alternative content

Get Adobe Flash player

Last Sunday chhattisgarh
उज्ज्वला योजना: 50 लाख का इंश्योरेंस, गैस सिलेंडर के साथ, जानिए कैसे?   |   नीति आयोग की कृषि पर मुख्यमंत्रियों की बैठक, कृषि मंत्री तोमर भी मौजूद   |   दिल्ली पुलिस ने आग से बचाई जिंदगियां   |   नाबालिग से दुष्कर्म का वीडियो वायरल, बहुत कोशिशों के बाद मामला दर्ज   |   संसद मार्ग स्थित एसबीआई की इमारत में लगी आग, मोके पर दमकल की गाड़िया मौजूद   |   एंबुलेंस कर्मियों ने सरकार पर लगाए आरोप, बहुत दिनों से जारी रखी हड़ताल   |   एक राष्ट्र एक कार्ड योजना   |   मुंबई के डोंगरी इलाके में 4 मंजिला इमारत गिरने से दो की मौत   |   साल का आखिरी चंद्र ग्रहण होगा बेहद खास, जानें भारत में किस समय दिखेगा ग्रहण   |   पीएम नरेंद्र मोदी की अर्थव्यवस्था में सुधार और बेरोजगारी दूर करने की तैयारी, दो कैबिनेट समितियां गठित   |  
यात्रा समाचार
क्या रेल बजट लाएगा अच्छे दिन
दिल्ली | रेल बजट के जरिए एनडीए सरकार मंगलवार को रेलवे का चेहरा बदलने की शुरुआत कर सकती है। माना जा रहा है कि पहले बजट में मोदी सरकार नई घोषणाओं के साथ कड़े कदम उठाने का ऐलान भी कर सकती है। साथ ही, यह भी साफ होगा कि रेलवे का किस हद तक निजीकरण किया जाएगा और कहां तक आर्थिक सुधार लागू किए जाएंगे। बहरहाल चुनौतियां कई हैं और जनता का दिल भी 'मोर' मांग रहा है, देखना होगा कि सरकार किस हद तक दोनों के बीच सामंजस्य बिठा पाती है। पटरी पर आएगी रेलवे बीते वर्षों की आर्थिक बदहाली से रेलवे को निकालने के लिए बड़े ऐलान हो सकते हैं। इनमें रेलवे की जमीन का इस्तेमाल और व्यावसायिक तौर पर कुछ फैसलों में प्राइवेट कंपनियों को शामिल करना भी है, जिससे कि रेलवे के इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत किया जा सके। रेलवे बोर्ड के सूत्र बताते हैं कि रेल मंत्री भले सदानंद गौड़ा हों, लेकिन बजट पर मोदी की छाप दिखेगी। पिछले दिनों उन्होंने रेलवे पर एक खाका तैयार करवाकर रेलवे को सौंपा था, जिसके आधार पर ही बजट बना है। बुलेट ट्रेन बनेगी हकीकत यूं तो बुलेट ट्रेन का सपना आरजेडी नेता लालू प्रसाद ने दिखाया था, लेकिन चुनाव के पहले मोदी भी इसकी वकालत करते नजर आए। लिहाजा बजट में बुलेट ट्रेन के नए रूट, स्टडी और इस प्रॉजेक्ट के लिए समयबद्ध योजना का ऐलान मुमिकन है। सेमी हाईस्पीड ट्रेनों की शुरुआत की घोषणा तो लगभग तय है। इसके तहत 150 से 200 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड वाली ट्रेनें चलाने का फैसला शामिल है, जिसके लिए नवंबर तक डेडलाइन दी जा सकती है। स्टेशनों की सुंदरता पर जोर अपने कार्यकाल में लालू प्रसाद ने वर्ल्ड क्लास स्टेशन बनाने का ऐलान किया था, लेकिन गौड़ा स्टेशनों को एयरपोर्ट की तर्ज पर विकसित करने और अत्याधुनिक सेवाएं मुहैया कराने की घोषणा कर सकते हैं। जिस तरह से एयरपोर्ट प्राइवेट कंपनियों को दिए गए हैं, उसी तरह से पायलट प्रॉजेक्ट के तौर पर कुछ स्टेशनों को ऑपरेट करने की जिम्मेदारी प्राइवेट कंपनियों को देने का फैसला भी हो सकता है। वैकल्पिक रास्तों से रेवेन्यू जुटाने की कोशिश नजर आएगी। टेकसेवी सरकार की दिखेगी झलक बजट में आईटी के इस्तेमाल को बढ़ावा देने वाले ऐलान हो सकते हैं। इनमें टिकट डिस्ट्रिब्यूशन से लेकर ट्रेनों के ऑटोमैटिक ऑपरेशन और प्रोटेक्शन सिस्टम लगाना शामिल हैं। सेफ्टी के लिए ज्यादा फंड रेल हादसों से सबक लेते हुए बजट में सुरक्षा के लिए ज्यादा फंड का प्रावधान होगा। इससे ट्रैक बदलने, सिग्नल सिस्टम और कोचों को आधुनिक बनाने का काम होगा। इनमें मेट्रो जैसे गेट वाले कोच भी शामिल हैं। मेट्रो जैसी ट्रेनों को मुंबई में लोकल की तर्ज पर चलाने का ऐलान भी हो सकता है। कहां से आएगा पैसा बीते साल रेलवे को वित्त मंत्रालय ने आर्थिक मदद के लिए 29 हजार करोड़ दिए थे। इस बार रेलवे को 38 हजार करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद है। पेच यह है कि अगर वित्त मंत्रालय से इतनी रकम नहीं मिली तो रेलवे के लिए काम चलाना मुश्किल होगा। इन पर रहेगी खास नजर कहां चलेंगी ट्रेनें आमतौर पर हर बजट में रेल मंत्री के राज्य में ट्रेनों की भरमार होती है। लेकिन क्या मोदी इस परंपरा को तोड़ पाएंगे। अगर रेल मंत्री के राज्य कर्नाटक और मोदी के संसदीय इलाके वाले राज्य यूपी में ज्यादा ट्रेनें दी गईं तो साफ है कि रेलवे को राजनीति से निकालने के लिए मोदी सरकार गंभीर नहीं है। लेकिन, अगर ऐसा नहीं हुआ तो मोदी इफेक्ट दिखेगा। रेल किराया अथॉरिटी का भविष्य यूपीए सरकार ने अथॉरिटी तो बनाई, लेकिन उसके सदस्य नियुक्त नहीं हो सके। अगर सरकार इस अथॉरिटी को जारी रखना चाहती है, तो संकेत मिलेगा कि मोदी लोकप्रियता के बजाय कड़े कदम उठाकर रेलवे को पटरी पर लाने के पक्ष में हैं और किराया अथॉरिटी के जरिए वक्त-वक्त पर किराया भी बढ़ेगा। प्रीमियम ट्रेनों का क्या होगा? अंतरिम बजट में डेढ़ दर्जन प्रीमियम ट्रेनों का ऐलान किया गया था, क्या ये ट्रेनें जारी रहेंगी या फिर इनमें बदलाव होगा?
back
next
दिनांक : 08 July 2014 11:43:52 द्वारा : GNN Bureau पसंद करे :
शेयर करे :
TAGS : #
एक नजर यहाँ भी
SamacharPatr