0 Indiaah Indiaah

Alternative content

Get Adobe Flash player

Last Sunday chhattisgarh
राफेल विवाद के बीच हुआ भारत और फ्रांस के बीच बड़ा नौसेना सैन्य अभ्यास 1 मई से   |   कांग्रेस से नहीं होगा गठबंधन, दिल्ली-हरियाणा में अपने दम पर चुनाव लड़ेगी   |   केजरीवाल के साथ जो होगा,उस में बीजेपी जिमेदार नहीं होगी   |   इंडोनेशिया हो रहे चुनाव में विडोडो फिर दूसरी बार राष्ट्रपति बनने के लिए तैयार हुए   |   दूसरे फेज की वोटिंग: सबसे अधिक फायदा या नुकसान माया का, 'मुस्लिम-दलित' गठजोड़ का भी टेस्ट   |   हाल ही में वरुण और आलिया की मूवी आयी कलंक में की गयी एक्टिंग के बारे में कही ये बात   |   यूपीः प्रतापगढ़ के जिला में प्रधान संघ के अध्यक्ष को गोली मारकर हत्या   |   संरक्षणवाद को विरोध में राजन!, बोले-जॉब बचाने में नहीं मिलेगी मदद   |   वायनाड के मंदिर में राहुल गांधी, और पुलवामा के शहीदों के लिए की पूजा   |   कोहली की कप्तानी पर उठाए सवाल   |  
अपराध समाचार
मोदी की पटना रैली के तार जुड़े मीरजापुर से
मीरजापुर| पटना में मोदी की गत वर्ष 27 अक्टूबर को आयोजित जनसभा के दौरान हुए सिलेसिलेवार बम धमाके के आरोप में मीरजापुर के दो युवकों को एनआईए टीम ने गिरफ्तार किया है।  बम धमाके का मुख्य आरोपी रांची निवासी हैदर अली जिले के कटरा कोतवाली इलाके में अहमद के अमानगंज स्थित घर में किरायेदार था। मोदी की सभा में सिलेसिलेवार बम धमाके को लेकर सुरक्षा विभाग सक्रिय हो उठा था। कुछ आरोपियों की निशानदेही पर मीरजापुर के दो याुवकों को एनआईए की टीम ने यहां से दबोच लिया है। पकड़े गए युवकों में से एक फकरूद्दीन पुत्र गुलाम मुतर्जा छोटा मीरजापुर मोहल्ले का निवासी है। जबकि दूसरा अहमद पुत्र सईद खान इमामबाड़ा क्षेत्र के बल्ली का अड्डा मोहल्ले का निवासी है। दोनो कटरा कोतवाली इलाके के रहने वाले है। बम धमाके का मुख्य आरोपी रांची निवासी हैदर अली अहमद के घर अमानगंज में किरायेदार था। वह वहां आता जाता था जिस मकान में वह रहता था उसके मालिक का परिवार मोहल्ले वालों से कोई बातचीत नहीं करता था। लिहाजा उसके किरायेदारों से भी किसी का कोई वार्ता नहीं होती थी। मामला सामने आने पर कैमरे के सामने आने से इंकार करते हुए पकड़े गए युवक के परिवार के सदस्य अपने परिवार के किसी भी सदस्य को किसी आतंकी वारदात में शामिल होने से साफ इंकार कर रहे है। उनका कहना रहा कि यहां इंसाफ नहीं मिलता। पेशे से वाहन चालक फकरूद्दीन की पत्नी शहाना ने अपने पति को नेक बताते हुए कहा कि वह मेहनत से काम करते है। उनके पति को फंसाया जा रहा है। बताते चले की इस मामले में पकड़े गए फकरूद्दीन को एक लड़के बाद केे बाद अभी दो दिन पूर्व ही उसकी पत्नी को लड़की पैदा हुई है। इसी प्रकार आंतकी वारदात से जोड़े जाने पर मोहल्ले के लोगो को भी दुःख है। लोगो का कहना रहा है कि किसी को आतंकी घोषित करने से पहले इसकी उच्च्स्तरीय जांच करानी चाहिए थी। ताकि कोई बुगुनाह न फंसने पाए। वहीं दुसरी ओर मोहल्ले के युवक की गिरफ्तारी पर मोहल्ले के लोगो में इस बात की चर्चा है कि देश की सुरक्षा से जुड़े लोगो ने जिन दो लोगो को गिरफ्तार किया है। यदि यह पटना की घटना में शामिल है तो इनके खिलाफ वही कार्रवाई होनी चाहिए जो एक आतंकवादी के साथ होती है। पटना में भाजपा नेता नरेन्द्र मोदी की रैली में हुए विस्फोट के तार शांति एंव सौहार्द की मिशाल उत्तर प्रदेश के मीरजापुर जनपद से आतंकी तार.जुड़ने के बाद यहां के लोग सन्न है। मामले की जांच में लगी एजेंसी ने अब तक चार लोगो को दबोच लिया है। आरोपियों का मेडिकल परीक्षण कराकर जिला सत्र न्यायालय में पेश किया गया जहां से आरोपियों से पूछताछ के लिए न्यायालय से रिमांड पर लेकर जांच एजेंसी की टीम कड़े सुरक्षा के बीच उन्हें पटना के लिए लेकर रवाना हो गई। प्रधानमंत्री पद के दावेदार नरेन्द्र मोदी की शंखनाद रैली 27 अक्टूबर 2013 को पटना में आयोजित थी। मोदी के भाषण के दौरान ही सिलेसिलेवार बम विस्फोट के बाद सक्रिय हुई सुरक्षा एजेंसी ने मीरजापुर के कटरा कोतवाली इलाके से अहमद एवं फकरूद्दीन मोहम्मद राजू के साथ ही इलाहाबाद से अनिकल पांडेय को गिर्फतार किया है। इनका सम्पर्क रांची के दस लाख के इनामी हैदर अली से रहा है जो बम धमाके का का मुख्य आरोपी है। मीरजापुर में हैदर अपना नाम बदली कर अेसारी निवासी औरंगाबाद  नाम से रह रहा था। कटरा कोतवाली के पीछे छोटा मीरजापुर मोहल्ले के मुस्लिम मैरिज ब्यरों में विस्फोटक खरीदने और आगे की रणनीति तय हुई थी। सूत्रों के अनुसार अनिल पांडेय पुत्र राजाराम पांडेय बंगाली पहाड़ी मांडा इलाहाबाद से मोहम्मद राजू खां पु. बल्ली मोहम्मद बरकछा ने खरीदा था विस्फोटक को मोहम्मद राजू ने फकरूद्दीन को दिया था। उससे विस्फोटक लेकर मुख्य आरोपी हैदर अली ने अहमद के घर अमानगंज में बम तैयार किया था। इसका प्रयोग पटना रैली के दौरान किया गया। हैदर अहमद के घर पर कुछ दिन तक किराये पर रहा। फिलहाल एनआईए की टीम इनको रिमांड पर लेकर पटना के निकल गई। इस मामले में जांच टीम एंव जिला प्रशासन ज्यादा कुछ जानकारी देने में अपने आपको पुरी  तरह से बचाव की मुद्रा में दिखलाई दिया। टीम ने इनके पास मोबाईल एवं कम्प्यूटर का हार्डडिस्क बरामद किया है।
back
next
दिनांक : 01 March 2014 05:51:33 द्वारा : Santosh Dev Giri पसंद करे :
शेयर करे :
TAGS : #
एक नजर यहाँ भी
SamacharPatr