दिल्ली एनसीआर ने फिर महसूस किए झटके , भूकंप की तीव्रता 4.7   |   चीन की सीमा पर पहुंचे मोदी को देखकर सैनिकों का हौंसला पहाड़ की ऊंचाइयों पर   |   वायूसेना में होगी लड़ाकू विमान राफेल की एंट्री, इसी महीने पहुंचेगी पहली खेप   |   पीएम मोदी के बाद ममता का ऐलान, पश्चिम बंगाल में जून 2021 तक बंटेगा मुफ्त राशन   |   डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह का चीनी रक्षामंत्री वेई फेंग से मुलाकात से इंकार   |   कोरोना की दवाई कोरोनिल के विज्ञापन पर रोक के बाद सामने आए आचार्य बाल कृष्ण   |   कानपुर-राजकीय बालिका ग्रह में 57 संवासिनियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टी हुई   |   पुरुष के शव पर महिला का सिर, अंग दान केंद्र की खौफनाक तस्वीर   |   कांवड़ यात्रा कि वजह से गाजियाबाद और मेरठ के स्कूल-कॉलेज 30 जुलाई तक रहेंगे बंद   |   सात जिलों में पानी का स्तर बढ़ने से मरने वालो कि संख्या बरती ही जा रही है   |  
व्यापार समाचार
वायूसेना में होगी लड़ाकू विमान राफेल की एंट्री, इसी महीने पहुंचेगी पहली खेप
रक्षा मंत्रालय|

नई दिल्ली। भारतीयवायु सेना तकरीबन 4 से 6‌लड़ाकू विमान राफेल अंबाला एयरबेस पर लेकर पहुंचेगी । 27जुलाई को भारतीय वायुसेना को इन विमानों का पहला स्लॉट मिलने वाला है। लाइन ऑफकंट्रोल (LOC) और लाइन ऑफएक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर भारत औरचीन के बीच बढ़ती तनातनी के समय यह एक राहत की खबर हो सकती है।

जैसा कि आप जानते हैं भारत मेंहथियारों की डिलीवरी का सिलसिला शुरू हो चुका है जिसमें Scalpऔर Meteorमिसाइलकी डिलीवरी भी शामिल है। सूत्रों के अनुसार फ्रांस से राफेल भारत लाने के बादभारतीय वायुसेना की गोल्डन एरो स्क्वाड्रन अगस्त में राफेल विमानों के साथ मोर्चासंभाल लेगी।

सूत्रों की माने तो राफेल में 150किमी. तक की रेंज में मेट्योर मिसाइल लगी होगीं जिसकी वजह से भारत चीन से मिलनेवाली हर चुनौती का सामना करने के लिए तैयार होगा। राफेल का मोर्चा संभालने के लिएभारतीय वायुसेना के पायलटों ने इस विमान की ट्रेनिंग भी ले ली है ताकि भारतीय वायुसेना पहले से ही हर तरह की स्थिति के लिए तैयार रहे।

यहां तक कि राफेल विमानों को भारत लानेके लिए वन स्टॉप का इस्तेमाल किया जाएगा। फ्रांस से उड़ान भरने के बाद पहलेविमानों को फ्यूल से लेकर बाकी सभी टेक्निकल चेकअप के लिए यूएई के अल डाफरा एयरबेसपर उतारा जाएगा। वहां से राफेल विमान सीधा अंबाला एयर बेस पर उतरेंगे।

भारतीय सरकार ने कुल 36राफेल विमानों का ऑर्डर दिया हुआ है। इन सभी विमानों की डिलीवरी की संभावना 2022 तकहै। खबरों के मुताबिक राफेल विमान का पहला स्क्वाड्रन अंबाला में तैनात होगा औरदूसरा स्क्वाड्रन पश्चिम बंगाल के हसीमारा में तैनात किया जाएगा। हालांकि फ्रांसने विमानों की डिलीवरी टाइम पर करने का वादा किया था लेकिन कोरोना संकट के चलतेविमानों की डिलीवरी में कुछ देरी हो गई है।

back
next
दिनांक : 01 July 2020 12:31:41 द्वारा : GNN Bureau पसंद करे :
शेयर करे :
TAGS : # rafel , # france , # india , # china , # fighter plane , # air force , # july
एक नजर यहाँ भी
SamacharPatr