दिल्ली एनसीआर ने फिर महसूस किए झटके , भूकंप की तीव्रता 4.7   |   चीन की सीमा पर पहुंचे मोदी को देखकर सैनिकों का हौंसला पहाड़ की ऊंचाइयों पर   |   वायूसेना में होगी लड़ाकू विमान राफेल की एंट्री, इसी महीने पहुंचेगी पहली खेप   |   पीएम मोदी के बाद ममता का ऐलान, पश्चिम बंगाल में जून 2021 तक बंटेगा मुफ्त राशन   |   डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह का चीनी रक्षामंत्री वेई फेंग से मुलाकात से इंकार   |   कोरोना की दवाई कोरोनिल के विज्ञापन पर रोक के बाद सामने आए आचार्य बाल कृष्ण   |   कानपुर-राजकीय बालिका ग्रह में 57 संवासिनियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टी हुई   |   पुरुष के शव पर महिला का सिर, अंग दान केंद्र की खौफनाक तस्वीर   |   कांवड़ यात्रा कि वजह से गाजियाबाद और मेरठ के स्कूल-कॉलेज 30 जुलाई तक रहेंगे बंद   |   सात जिलों में पानी का स्तर बढ़ने से मरने वालो कि संख्या बरती ही जा रही है   |  
व्यापार समाचार
कोरोना की दवाई कोरोनिल के विज्ञापन पर रोक के बाद सामने आए आचार्य बाल कृष्ण
देश|

नई दिल्ली। योग गुरु बाबा रामदेव कोकेंद्र सरकार की ओर से बड़ा झटका लगा है। सरकार ने कोरोना वायरस की कथित दवा काविज्ञापन रोकने को कहा है। आयुष मंत्रालय ने कंपनी कोदवा के संबंध में क्लीनिकल स्टडी, अपनाए गएप्रोटोकॉल, सैंपल साइज, सैंपलसाइज, रजिस्ट्रेशनआदि के बारे में सारे ब्योरे जमा करने को भी कहा है। इसके साथ ही कहा गया है कि जबतक इनकी जांच सरकार नहीं कर लेती तब तक कंपनी इस दवा का विज्ञापन नहीं कर सकती।

वहीं, बाबारामदेव के सहयोगी आचार्य बालकृष्ण ने इस मामले में सफाई दी है। उन्होंने कहा कि यहसरकार आयुर्वेद को प्रोत्साहन व गौरव देने वाली है जो कम्युनिकेशन गैप था वह दूरहो गया है व क्लीनिकल ट्रायलके के जितने भी मानक हैं उन सबको पूरी तरह फॉलो किया गया है। इसकी सारी जानकारीहमने आयुष मंत्रालय को दे दी है।

आपको बता दें कि बाबा रामदेव नेआयुर्वेदिक दवा से कोविड-19 के इलाज कादावा किया है। उन्होंने कोरोना के इलाज के लिए मंगलवार को कोरोनिल नामक टैबलेट(गोली) लॉन्च किया। पतंजलि योगपीठ के प्रमुख रामदेव ने कहा कि "क्लिनिकलीटेस्टेड, प्रामाणिकदवा के साथ आना एक चुनौती थी।" पतंजलि का दावा है कि जिन मरीजों पर इस दवाईका प्रयोग किया गया, वे पूरी तरह सेठीक हो गए और किसी की मौत नहीं हुई। रामदेव ने यहां तक दावा किया कि उन मरीजों मेंसे 69फीसदी तो महज तीन दिनों के अंदर ही ठीक हो गए।

रामदेव के करीबी सहयोगी और पतंजलिआयुर्वेद के एमडी बालकृष्ण ने कहा, हमनेकोविड-19 केप्रकोप के बाद वैज्ञानिकों की एक टीम नियुक्त की। उन्होंने कहा कि पतंजलि नेसैकड़ों कोरोना पॉजिटिव रोगियों पर क्लीनिकल केस स्टडी की है। इसे पतंजलि रिसर्चइंस्टीट्यूट और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (निम्स) यूनिवर्सिटी, जयपुरने मिलकर तैयार किया है। पतंजलि ने दावा किया है कि इसके लिए सभी वैज्ञानिक नियमोंका पालन किया है। क्लिनिकल परीक्षण के बारे में बात करते हुए, रामदेवने कहा, इसकेतहत 280 रोगियोंको शामिल किया गया था और 100 फीसदी लोग ठीकहो गए।


back
next
दिनांक : 24 June 2020 07:51:09 द्वारा : GNN Bureau पसंद करे :
शेयर करे :
TAGS : # coorna virus , # covid 19 , # baba ramdev , # coronil , #
एक नजर यहाँ भी
SamacharPatr