राज्यसभा में पारित हुए किसानों की आय में वृद्धि और जीवन में खुशहाली लाने वाले दो कृषि बिल, इसका विरोध क्यों?   |   बिहार विधानसभा चुनाव टालने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर   |   FATF ब्लैकलिस्ट होने के डर से पाक ने स्वीकार किया दाऊद पाकिस्तान में है   |   जो मुझे गालियां देते हैं और मेरी आलोचना करते हैं, उनका भी हार्दिक अभिनंदन : गुप्तेश्वर पाण्डेय   |   बिहार की राजनीति में बड़ा बवाल : श्याम रजक जदयू से निष्कासित, मंत्री पद भी गया   |   सलमान खान, महेश भट्ट और करण जौहर समेत 8 फिल्मी हस्तियों के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दायर, 18 अगस्त को सुनवाई   |   डीएमआरसी ने यमुना नदी पर 5वें पुल का निर्माण कार्य शुरू किया   |   यूपी के कैबिनेट मंत्री पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान का निधन   |   राजद ने अपने 3 विधायकों को पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्तता के कारण किया बर्खास्त   |   नीतीश सरकार के मंत्री श्याम रजक जा सकते है राजद के पाले में   |  
व्यापार समाचार
कोरोना की दवाई कोरोनिल के विज्ञापन पर रोक के बाद सामने आए आचार्य बाल कृष्ण
देश|

नई दिल्ली। योग गुरु बाबा रामदेव कोकेंद्र सरकार की ओर से बड़ा झटका लगा है। सरकार ने कोरोना वायरस की कथित दवा काविज्ञापन रोकने को कहा है। आयुष मंत्रालय ने कंपनी कोदवा के संबंध में क्लीनिकल स्टडी, अपनाए गएप्रोटोकॉल, सैंपल साइज, सैंपलसाइज, रजिस्ट्रेशनआदि के बारे में सारे ब्योरे जमा करने को भी कहा है। इसके साथ ही कहा गया है कि जबतक इनकी जांच सरकार नहीं कर लेती तब तक कंपनी इस दवा का विज्ञापन नहीं कर सकती।

वहीं, बाबारामदेव के सहयोगी आचार्य बालकृष्ण ने इस मामले में सफाई दी है। उन्होंने कहा कि यहसरकार आयुर्वेद को प्रोत्साहन व गौरव देने वाली है जो कम्युनिकेशन गैप था वह दूरहो गया है व क्लीनिकल ट्रायलके के जितने भी मानक हैं उन सबको पूरी तरह फॉलो किया गया है। इसकी सारी जानकारीहमने आयुष मंत्रालय को दे दी है।

आपको बता दें कि बाबा रामदेव नेआयुर्वेदिक दवा से कोविड-19 के इलाज कादावा किया है। उन्होंने कोरोना के इलाज के लिए मंगलवार को कोरोनिल नामक टैबलेट(गोली) लॉन्च किया। पतंजलि योगपीठ के प्रमुख रामदेव ने कहा कि "क्लिनिकलीटेस्टेड, प्रामाणिकदवा के साथ आना एक चुनौती थी।" पतंजलि का दावा है कि जिन मरीजों पर इस दवाईका प्रयोग किया गया, वे पूरी तरह सेठीक हो गए और किसी की मौत नहीं हुई। रामदेव ने यहां तक दावा किया कि उन मरीजों मेंसे 69फीसदी तो महज तीन दिनों के अंदर ही ठीक हो गए।

रामदेव के करीबी सहयोगी और पतंजलिआयुर्वेद के एमडी बालकृष्ण ने कहा, हमनेकोविड-19 केप्रकोप के बाद वैज्ञानिकों की एक टीम नियुक्त की। उन्होंने कहा कि पतंजलि नेसैकड़ों कोरोना पॉजिटिव रोगियों पर क्लीनिकल केस स्टडी की है। इसे पतंजलि रिसर्चइंस्टीट्यूट और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (निम्स) यूनिवर्सिटी, जयपुरने मिलकर तैयार किया है। पतंजलि ने दावा किया है कि इसके लिए सभी वैज्ञानिक नियमोंका पालन किया है। क्लिनिकल परीक्षण के बारे में बात करते हुए, रामदेवने कहा, इसकेतहत 280 रोगियोंको शामिल किया गया था और 100 फीसदी लोग ठीकहो गए।


back
next
दिनांक : 24 June 2020 07:51:09 द्वारा : GNN Bureau पसंद करे :
शेयर करे :
TAGS : # coorna virus , # covid 19 , # baba ramdev , # coronil , #
एक नजर यहाँ भी
SamacharPatr