दिल्ली एनसीआर ने फिर महसूस किए झटके , भूकंप की तीव्रता 4.7   |   चीन की सीमा पर पहुंचे मोदी को देखकर सैनिकों का हौंसला पहाड़ की ऊंचाइयों पर   |   वायूसेना में होगी लड़ाकू विमान राफेल की एंट्री, इसी महीने पहुंचेगी पहली खेप   |   पीएम मोदी के बाद ममता का ऐलान, पश्चिम बंगाल में जून 2021 तक बंटेगा मुफ्त राशन   |   डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह का चीनी रक्षामंत्री वेई फेंग से मुलाकात से इंकार   |   कोरोना की दवाई कोरोनिल के विज्ञापन पर रोक के बाद सामने आए आचार्य बाल कृष्ण   |   कानपुर-राजकीय बालिका ग्रह में 57 संवासिनियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टी हुई   |   पुरुष के शव पर महिला का सिर, अंग दान केंद्र की खौफनाक तस्वीर   |   कांवड़ यात्रा कि वजह से गाजियाबाद और मेरठ के स्कूल-कॉलेज 30 जुलाई तक रहेंगे बंद   |   सात जिलों में पानी का स्तर बढ़ने से मरने वालो कि संख्या बरती ही जा रही है   |  
अन्य समाचार
कांवड़ यात्रा कि वजह से गाजियाबाद और मेरठ के स्कूल-कॉलेज 30 जुलाई तक रहेंगे बंद
gnn bureau |

कांवड़ यात्रा के दौरानगाजियाबाद और मेरठजिले के सभीस्कूल और कॉलेजोंमें 26 से 30 जुलाई तकछुट्टी दी गईहै। अधिकारियों नेगुरुवार को यहजानकारी दी। गाजियाबादके जिलाधिकारी अजयशंकर पांडे द्वाराजारी आदेश मेंबताया गया किश्रावण शिवरात्रि 30 जुलाई को होगी।लिखित आदेश मेंकहा गया हैकि पिछले वर्षकी तरह इसबार भी श्रद्धालुओंऔर कांवड़ियों केभारी संख्या मेंआने का अनुमानहै।

आदेश जारी करउन्होंने बोला किसभी प्राथमिक औरमाध्यमिक स्कूल, इनमें सीबीएसईऔर आईसीएसई बोर्डसे संबद्ध स्कूलभी शामिल हैं,कॉलेज, इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट और सारेमेडिकल कॉलेज 26 से 30 जुलाईतक बंद रहेंगे।

गाजियाबाद के पड़ोसीमेरठ जिले केभी स्कूल औरकॉलेज 30 जुलाई तक बंदरहेंगे। क्षेत्रीय उच्च शिक्षाअधिकारी डॉ राजीवकुमार गुप्ता नेबताया कि 26 जुलाईसे 29 जुलाई तकमेरठ जिले केसभी शासकीय वअशासकीय सहायता मिल रहेकॉलेज और विश्वविद्यालयसे सम्बद्ध सभीउच्च संस्थानों मेंअवकाश घोषित कियाजा चूका है।

उन्होंने बताया कि 30 जुलाईको महाशिवरात्रि पर्वके कारण 31 जुलाईको कॉलेज खुलेंगे।गुप्ता के अनुसारयदि किसी कॉलेजमें परीक्षा याप्रवेश कार्य सम्पादित होरहे हैं तबऐसे विद्यालय इसआदेश से खंडितनही होंगे।

जिला प्रवक्ता के अनुसारमेरठ के जिलाप्रशासन द्वारा 30 जुलाई तकइंटर के स्कूलबंद रखने केआदेश पहले हीदिए जा चुकेहैं।

मेरठ में कांवड़ियोंकी भारी भीड़को देखते हुएयह फैसला लियागया है। इसदौरान गंगा जललेने के लिएकांवड़िए उत्तराखंड के हरिद्वारजाते हैं। बच्चोंकी सुरक्षा औरकानून-व्यवस्था कोबनाए रखने केलिए यह फैसलालिया गया है,जो कि बहुतही जरुरी है।

वार्षिक कांवड़ यात्रा कोदेखते हुए पश्चिमीउत्तर प्रदेश केजिलों जैसे गौतमबुद्धनगर,गाजियाबाद, बुलंदशहर और मेरठमें सुरक्षा व्यवस्थाबढ़ा दी गईहै।


back
next
दिनांक : 26 July 2019 12:32:25 द्वारा : GNN Bureau पसंद करे :
शेयर करे :
TAGS : # कांवड़ यात्रा , # गाजियाबाद और मेरठ , # 26 से 30 जुलाई , # जिलाधिकारी , # प्राथमिक और माध्यमिक स्कूल
एक नजर यहाँ भी
SamacharPatr