0 Indiaah Indiaah

Alternative content

Get Adobe Flash player

Last Sunday chhattisgarh
पुरुष के शव पर महिला का सिर, अंग दान केंद्र की खौफनाक तस्वीर   |   कांवड़ यात्रा कि वजह से गाजियाबाद और मेरठ के स्कूल-कॉलेज 30 जुलाई तक रहेंगे बंद   |   सात जिलों में पानी का स्तर बढ़ने से मरने वालो कि संख्या बरती ही जा रही है   |   Vodafone ने 1,,699 का प्रीपेड प्लान बदल दिया है, जिसपर रोज 1।5GB डेटा मिलेगा   |   9 बैंकों के क्रेडिट कार्ड के जाल में फंसने पर परिवार ने कि आत्महत्या   |   सरकारी योजना जैसे नाम की वेबसाइट बनाकर लोगो को ठगा, 12वीं फेल युवक की करतूत   |   21 दिन में छह गोल्ड जीतने वाली भारतीय एथलीट ने रचा इतिहास, आइये जानते है उन्होंने कैसे किया ये चमत्कार   |   युवती के पेट से बरामद 1।5 किलो सोना और 90 सिक्के, डॉक्टर भी हैरान   |   भारत का पहला गार्बेज कैफ़े, प्लास्टिक के बदले मिलेगा खाना   |   घर में 11 लाख के नकली नोट कि छपाई कर महंगी गाड़ी खरीदने पहुंची महिला।।।शोरूम में कैश दिखाते ही पकड़ी गयी   |  
अपराध समाचार
सरकारी योजना जैसे नाम की वेबसाइट बनाकर लोगो को ठगा, 12वीं फेल युवक की करतूत
gnn bureau|

12वीं फेल युवकने एमए-बीएडजैसी डिग्रियां पाकरसरकारी शिक्षक की नौकरीढूंढ रहे 100 सेज्यादा युवाओं को ठगा।इसके बाद दिल्लीपुलिस की साइबरक्राइम यूनिट ने आरोपीप्रसन्नजीत चटर्जी (34) को नॉर्थ24 परगना पश्चिमी बंगाल सेउसे गिरफ्तार करलिया।

उसने प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरताअभियान के नामसे मिलती-जुलतीवेबसाइट बनाई थी।इसके बाद सरकारीनौकरी दिलाने काझांसा देकर रजिस्ट्रेशनफीस के नामपर फर्जीवाड़ा देताथा। पुलिस नेउसका लैपटॉप औरहार्डडिस्क को जब्तकर लिया है।

साइबर क्राइम यूनिट केडीसीपी अन्येष रॉय केअनुसार, भारत सरकारके मिनिस्ट्री ऑफइलेक्ट्रॉनिक्स एंड इन्फॉर्मेशनटेक्नालॉजी के विजिलेंसऑफिसर हरीसेवक शर्माने यूनिट मेंदर्ज कराई गयीशिकायत के जरियेलोगों को ठगेजाने वाली वेबसाइटका पता लगाया।

जानिए क्या हैफर्जी वेबसाइट

इंस्पेक्टरभानुप्रताप की टीमने जांच कीतो पता चलाकि असली बेवसाइटwww.pmgdisha.in है। आरोपी ने इसकेआगे wb जोड़ दियाथा। इससे उसकीवेबसाइट www.wbpmgdisha.in हो गई।इसी के झांसेमें लोग फंसतेचले गए। पुलिसने इस वेबसाइटको ब्लॉक कराया।

पुलिस अधिकारियों के अनुसार,आरोपी फर्जी वेबसाइटपर आने वालेलोगों को शिक्षकबनाने का झांसादेकर रुपये निकलवाताथा। कभी रजिस्ट्रेशनफीस तो कभीकिसी अन्य फीसके नाम परवह अपने खातेमें रुपये ट्रांसफरकरा लेता था।साइबर क्राइम यूनिटने कुछ समयपहले एक ऐसेही आरोपी कोपकड़ा था, जोप्रधानमंत्री के नामसे वेबसाइट बनाकरफर्जी लैपटॉप बांटनेका लालच देकरठगता था।


back
next
दिनांक : 25 July 2019 02:35:21 द्वारा : GNN Bureau पसंद करे :
शेयर करे :
TAGS : # एमए-बीएड , # आरोपी प्रसन्नजीत चटर्जी , # मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इन्फॉर्मेशन टेक्नालॉजी
एक नजर यहाँ भी
SamacharPatr